आँचल गँगवाल – चाय वाले की बेटी जिसने मुश्किलों पर पाई विजय और बनी IAF officer

0
240

आँचल गँगवाल एक ऐसी लड़की जिसने भरी है अपने सपनों की उड़ान। मध्य प्रदेश के नीमच शहर में रहने वाली एक 24 साल की बेटी ने रच दिया इतिहास। यह उपलब्धि बड़ी इसीलिए है, क्योंकि इनके पिता कोई बड़े व्यापारी नहीं है बल्कि इनके पिता सुरेश गँगवाल Bus stand पर चाय बेचते है।  यह एक मामूली चाय वाले की बेटी हो कर इतने अच्छे मुकाम तक पहुँचना यह एक गौरव की बात है। आँचल वायुसेना में भर्ती हो कर फाइटर प्लेन उड़ाएँगी। अब वह खुद के एवं पूरे देश के आत्मसम्मान की करेंगी रक्षा।

  • यह आज सबके लिए मिसाल है।
  • जिन लोगों को आज भी लगता है, की लड़कियों की अक्ल घुटनों में होती है ऐसे लोगों के लिए इसी भारत देश की बेटी आँचल गँगवाल है मिसाल।
  • सपना तो हर कोई देखता है, किन्तु उस सपने को सच बहुत कम लोग कर पाते है। इसके लिए उन्हें नसीब से ज़्यादा मेहनत की ज़रूरत होती है।
  • इसने यह साबित कर दिया कि इंसान का होंसला बुलंद हो तो वह कुछ भी कर सकता है।
  • “सपना सच करने के लिए पैसों की नहीं बल्कि कड़ी मेहनत और जुनून की ज़रूरत होती है।”

आइए जानते है, आँचल गँगवाल के सफर के बारे में – 

किन्तु, उससे पहले एक बात हमेशा समरण रखिए गा –

“ज़िन्दगी में चाहे जो मुश्किल हो अगर आपका सपना है और उसे पाने के लिए कड़ी मेहनत की जाएँ और जुनून हो तो आप कहीं भी पहुँच सकते है”

हमारे जीवनकाल में, हम में से बहुत से लोग बाधाओं का सामना करते हैं, लेकिन हम में से कुछ ही हिम्मत कर के कठिनाइयों का सामना करते है और उड़ते हुए रंगों के साथ गुजर ते है। आँचल की यात्रा आसान नहीं थी। इनके साथ इनके पिता ने भी उसका सपना पूरा करने के लिए साथ दिया और होंसला बढ़ाया। किन्तु, मंज़िल तक पहुँचना आसान नहीं था। इनके पिता ने इनकी फीस भरने के लिए बहुत संघर्ष किया। वह बहुत जगह से पैसे उधार मांगकर इनकी शिक्षा की fees भरते थे और कई बार तो fees भरने के लिए देरी भी हो जाया करते थे।

यह पांच बार परीक्षा में असफल हुई थी। परन्तु, इसने हार नहीं मानी और मेहनत किया जिसके चलते छटी बार वह सफल हुई।

उसके परिवार के लिए उसका IAF (Indian Air force) में भर्ती होना एक गर्व का क्षण था। लेकिन कोरोनोवायरस-प्रेरित प्रतिबंधों के कारण उसे रूबरू देख नहीं सके।  

जो बनी सबकी के लिए मिसाल उसका Inspiration कौन है?

आँचल को 2013 केदारनाथ Tragedy के दौरान कर्मियों की बहादुरी की गवाही देने के बाद भारतीय वायुसेना में शामिल होने की प्रेरणा मिली।

कुछ और महत्वपूर्ण बातें आँचल गँगवाल की –

  • यह एक उज्ज्वल छात्रतो है ही परन्तु, Basket ball player भी है।
  • इन्होंने Book stall से जानकारी एकत्र की। वह कैसे defence force में प्रवेश कर सकती है और उस दिशा में तैयारी शुरू कर सकती है इसलिए।
  • आँचल को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस बहादुर योद्धा को बधाई दी Tweet के ज़रिए। साथ ही प्रशंसा भी की।

यह कहना गलत नहीं होगा आँचल के लिए की – 

“ पंखों से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है”

READ  Jitendra Kumar की Biography, लाइफस्टाइल , आयु, फैमिली, कैरियर, सम्पत्ति